Breaking News

स्मृति इरानी ने साधा राहुल गांधी पर निशाना, ‘हाथरस कूच उनकी अपनी राजनीति, जनता खूब समझती है’

  • हाथरस मामले में केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि उन्हें यकीन है कि सीएम योगी आदित्यनाथ इस मामले में न्याय करेंगे
  • कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए स्मृति इरानी ने कहा कि उनका हाथरस कूच करना सिर्फ अपनी राजनीति करना
  • हाथरस गैंगरेप और मौत मामले में महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी की चुप्पी पर विपक्ष लगातार सवाल उठा रहा था

हाथरस  : हाथरस गैंगरेप मामले में तेज होती राजनीति के बीच केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि उन्हें यकीन है कि सीएम योगी आदित्यनाथ इस मामले में न्याय करेंगे। साथ ही उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका हाथरस कूच करना सिर्फ अपनी राजनीति करना है। बता दें कि हाथरस गैंगरेप मामले में महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति इरानी की चुप्पी पर विपक्ष लगातार सवाल उठा रहा था।
स्मृति इरानी ने वाराणसी में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ‘राहुल गांधी राजनीति के लिए हमेशा प्रयासरत रहे हैं लेकिन राष्ट्रनीति में सफल नरेंद्र मोदी रहे हैं। मुझे लगता है कि स्वतंत्र देश ने जनता कांग्रेस के हथकंडों को भलीभांति समझा है। कोई भी नेता किसी भी विषय में राजनीति करना चाहता है तो मैं उसे रोक नहीं सकती है लेकिन जनता समझती है कि हाथरस में कूच उनकी अपनी राजनीति के लिए है न कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए।’

‘एसआईटी की रिपोर्ट आने दीजिए’
हाथरस मामले को लेकर स्मृति इरानी ने कहा, ‘अपनी संवैधानिक मर्यादा के चलते मैं किसी प्रदेश के मामले में दखल नहीं देती लेकिन हां मैंने सीएम योगी आदित्यनाथ ने बात की है। मुख्यमंत्री ने एसआईटी का गठन किया है। कल एसपी के खिलाफ कार्रवाई हुई है। एसआईटी की रिपोर्ट आने दीजिए। उसके बाद जिन लोगों ने हस्तक्षेप किया या जिन लोगों ने पीड़िता को न्याय न मिल पाए इसकी साजिश की है, उनके खिलाफ योगी सख्त कार्रवाई करेंगे।’

‘गहलोत को भी कॉल करें राहुल’
वहीं अशोक गहलोत के बयान पर स्मृति इरानी ने कहा कि ‘उनका यह कहना कि लड़की अपनी मर्जी से गई थी, यह बयान निंदनीय है। राहुल गांधी को गहलोत को भी कॉल करना चाहिए।’

Check Also

अनाधिकृत निर्माण के नियमितीकरण कार्यशाला में बोले सांसद संजय सेठ

🔊 Listen to this भवन निर्माण के लिए नक्शा पास कराने की प्रक्रिया को सरल …