Breaking News

हॉस्पिटल से बाहर निकल गए कोरोना संक्रमित ट्रंप, डॉक्टर बोले- ‘बेवकूफी’

  • कार में सवार होकर वे हॉस्पिटल के बाहर समर्थकों के करीब पहुंचे

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कोरोना से बीमार हैं और हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है. इसी दौरान उन्होंने अपने समर्थकों के लिए हॉस्पिटल से बाहर निकलने का फैसला किया. कार में सवार होकर वे हॉस्पिटल के बाहर समर्थकों के करीब पहुंचे.  हालांकि, कोरोना संक्रमित ट्रंप समर्थकों को देखने के लिए जब हॉस्पिटल से बाहर निकले तो अपनी कार से उतरे नहीं, लेकिन स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने ट्रंप के इस फैसले पर सवाल उठाया है. कई एक्सपर्ट का कहना है कि ट्रंप की कार के ड्राइवर और अन्य लोगों को इससे काफी खतरा पैदा हुआ.

ट्रंप का इलाज वाल्टर रीड मिलिट्री हॉस्पिटल में किया जा रहा है जिसमें अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं. हॉस्पिटल के बाहर शुक्रवार रात से ही ट्रंप के समर्थकों की भीड़ जमा होने लगी थी. ट्रंप ने ट्वीट करके उन्हें सरप्राइज देने की बात कही थी.

ट्रंप के साथ कार में कम से कम दो और लोग सवार थे. समझा जाता है कि ये लोग उनकी सुरक्षा में तैनात अफसर थे. वहीं, ट्रंप ने कार में कपड़ों से बना मास्क ही पहना था, न कि अधिक सुरक्षित N95 मास्क.

वाल्टर रीड हॉस्पिटल के ही डॉ. जेम्स फिलिप्स ने कहा है कि कार के भीतर कोरोना संक्रमण का खतरा काफी अधिक था. डॉ. जेम्स ने कहा- ‘अनावश्यक रूप से कार में मौजूद लोगों को अब 14 दिन तक क्वारनटीन होना होगा, वे बीमार भी पड़ सकते हैं और शायद मौत भी हो सकती है. एक्टिंग के लिए ट्रंप ने उनकी जिंदगी को खतरे में डाला. यह मूर्खता है.’ हालांकि, जेम्स ट्रंप का इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम में शामिल नहीं हैं.

ओरेगोन हेल्थ एंड साइंस यूनिवर्सिटी के डॉ. इस्थर चू ने कहा कि अन्य लोगों को ट्रंप के साथ कार में देखकर उन्हें काफी बुरा लगा. न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में संक्रामक रोगों के प्रोफेसर डॉ. सेलिन गाउंडर ने कहा कि ट्रंप ने अन्य लोगों की जिंदगी को खतरे में डाला.

Check Also

अनाधिकृत निर्माण के नियमितीकरण कार्यशाला में बोले सांसद संजय सेठ

🔊 Listen to this भवन निर्माण के लिए नक्शा पास कराने की प्रक्रिया को सरल …