Breaking News

मन की बात में बोले मोदी- कष्ट सहन करने की सीमा की परीक्षा ले रहा कोरोना

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर चिंता जताई. पीएम मोदी ने कहा ‘वैक्सीन हम सब को लगवाना है और पूरी सावधानी भी रखनी है. दवाई भी, कड़ाई भी – इस मंत्र को कभी भी नहीं भूलना है. हम जल्द ही साथ मिलकर इस आपदा से बाहर आयेंगे.

एक तरफ देश, दिन-रात अस्पतालों, Ventilators और दवाइयों के लिए काम कर रहा है, तो दूसरी ओर, देशवासी भी जी-जान से कोरोना की चुनौती का मुकाबला कर रहे हैं. उन्हाेंने कहा ‘इस बार, गांवों में भी नई जागरूकता देखी जा रही है. कोविड नियमों का सख्ती से पालन करते हुए लोग अपने गांव की कोरोना से रक्षा कर रहे हैं, जो लोग, बाहर से आ रहे हैं उनके लिए सही व्यवस्थाएं भी बनाई जा रही हैं.

जैसे आज हमारे Medical Field के लोग, Frontline Workers दिन-रात सेवा कार्यों में लगे हैं. वैसे ही समाज के अन्य लोग भी, इस समय, पीछे नहीं हैं. देश एक बार फिर एकजुट होकर को रोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है.

उन्होंने कहा कि भारत सरकार की तरफ से मुफ्त वैक्सीन का जो कार्यक्रम अभी चल रहा है, वो आगे भी चलता रहेगा.

उन्हाेंने कहा कि मेरा राज्यों से भी आग्रह है कि वो भारत सरकार के इस मुफ्त वैक्सीन अभियान का लाभ अपने राज्य के ज्यादा से ज्यादा लोगाें तक पहुंचाएं.

मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि कोरोना के इस संकट काल में वैक्सीन की अहमियत सभी को पता चल रही है, इसलिए मेरा आग्रह है कि वैक्सीन को लेकर किसी भी अफवाह में न आएं.

उन्होंने कहा ‘इस समय हमें इस लड़ाई को जीतने के लिए experts और वैज्ञानिक सलाह को प्राथमिकता देनी है.’ ‘राज्य सरकार के प्रयत्नों को आगे बढ़ाने में भारत सरकार पूरी शक्ति से जुटी हुई है.’

उन्हाेंने कहा ‘ मैं आप सबसे आग्रह करता हूं, आपको अगर कोई भी जानकारी चाहिए हो, कोई और आशंका हो तो सही सोर्स से ही जानकारी लें. आपके जो फैमली डॉक्टर हो, आस-पास के डॉक्टर हों, आप उनसे फोन से संपर्क करके सलाह लीजिए. बता दें कि कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात कर रहे हैं.

मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा ‘आज मैं आपसे मन की बात एक ऐसे समय कर रहा हूं जब कोरोना हम सभी के धैर्य हम सभी के दुख बर्दाश्त करने की सीमा की परीक्षा ले रहा है’ उन्होंने कहा, ‘ बहुत से अपने हमें असमय छोड़कर चले गए.

Check Also

अनाधिकृत निर्माण के नियमितीकरण कार्यशाला में बोले सांसद संजय सेठ

🔊 Listen to this भवन निर्माण के लिए नक्शा पास कराने की प्रक्रिया को सरल …