Breaking News

संन्यास की घोषणा के बाद मैं और माही भाई गले मिले और खूब रोए – रैना

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और साथी क्रिकेटर सुरेश रैना काफी अच्छे दोस्त रहे हैं। मैदान पर और मैदान के बाहर दोनों की केमेस्ट्री काफी अच्छी रही है। धोनी ने 15 अगस्त की शाम इंटरनैशनल क्रिकेट को अलविदा कहा तो कुछ मिनट बाद ही रैना ने भी इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी। धोनी की कप्तानी में रैना टीम इंडिया के लिए भी खेल चुके हैं और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी टीम चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के लिए भी खेलते हैं। रैना ने बताया कि रिटायरमेंट की घोषणा की बाद वो धोनी से गले मिले थे और दोनों रोए भी थे।

मुझे पता था कि धोनी चेन्नई पहुंचने के बाद संन्यास की घोषणा करेंगे

रैना के रिटायरमेंट के बारे में किसी ने सोचा भी नहीं था, उन्होंने महज 33 साल की उम्र में इंटरनैशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया। रैना ने कहा, ‘मुझे पता था कि धोनी चेन्नई पहुंचने के बाद संन्यास की घोषणा करेंगे, तो मैं इसके लिए तैयार था। मैं, पीयूष चावला, दीपक चाहर, कर्ण शर्मा 14 अगस्त को चार्टर्ड प्लेन से रांची पहुंचे और माही भाई और मोनू सिंह को पिक किया।’ धोनी ने जब टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी, तो एक फोटो वायरल हुई थी, जिसमें धोनी रैना के पास खड़े थे और उनकी आंखें भरी हुईं थीं। धोनी का इंटरनैशनल क्रिकेट से संन्यास लेना भी इससे अलग नहीं था। रैना ने बताया कि संन्यास के फैसले के बाद हम-दोनों गले लगे और काफी रोए।

रैना ने बताया कि दोनों ने रिटायरमेंट की तारीख 15 अगस्त क्यों चुनी

रैना ने कहा, ‘अपने संन्यास की घोषणा के बाद, हम गले मिले और खूब रोए। मैं, पीयूष, अंबाती रायुडू, केदार जाधव और कर्ण शर्मा साथ बैठे और फिर हमने अपने करियर और दोस्ती के बारे में बातें की, हमने उस रात पार्टी भी की।’ रैना ने बताया कि दोनों ने रिटायरमेंट की तारीख 15 अगस्त क्यों चुनी। रैना ने कहा कि धोनी का जर्सी नंबर 7 है और मेरा 3, भारत ने 15 अगस्त को 74वां स्वतंत्रता दिवस मनाया, इस तरह से भारत ने आजादी के 73 साल पूरे किए, तो हमने सोचा इस मौके पर हम संन्यास की घोषणा करेंगे।

Check Also

श्री अग्रसेन स्कूल के 53 बच्चों को ओलिंपियाड में मिला पदक

🔊 Listen to this 6 बच्चे ऑल इंडिया टॉप 100 में शामिल भुरकुंडा(रामगढ़)lश्री अग्रसेन स्कूल …